Latest Posts

सोनिया की PM मोदी को चिट्ठी- एक वैक्सीन के 3 दाम कैसे संकट के वक्त मुनाफाखोरी को बढ़ावा दे रहा केंद्र

Loading...

सीरम इंस्टीट्यूट ने पिछले दिन अपने कोविशिल्ड वैक्सीन की कीमतें जारी कीं, जिसमें केंद्र और राज्य सरकार के लिए अलग-अलग कीमतें तय की गई हैं। अब इस मुद्दे पर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा है और केंद्र सरकार की वैक्सीन नीति पर सवाल उठाया है।

कोरोना टीकाकरण के नए चरण की शुरुआत से पहले ही विवाद शुरू हो गया है। सीरम इंस्टीट्यूट ने पिछले दिन अपने कोविशिल्ड वैक्सीन की कीमतें जारी कीं, जिसमें केंद्र और राज्य सरकार के लिए अलग-अलग कीमतें तय की गई हैं। अब इस मुद्दे पर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा है और केंद्र सरकार की वैक्सीन नीति पर सवाल उठाया है।

सोनिया गांधी ने अपने पत्र में लिखा है कि सरकार ऐसे समय में ऐसी मुनाफाखोरी की अनुमति कैसे दे सकती है, जब अस्पतालों में बेड, दवाओं, ऑक्सीजन की कमी है। सीरम संस्थान ने केंद्र सरकार और राज्य सरकार के लिए वैक्सीन की अलग-अलग कीमतें निर्धारित की हैं, यह आम आदमी पर सीधा बोझ होगा।

Congress-PArty-sonia-gandhi

सोनिया गांधी ने कहा है कि राज्य सरकारों पर संकट बढ़ेगा और आम आदमी को वैक्सीन के लिए अधिक भुगतान करना होगा। ऐसी स्थिति में एक ही वैक्सीन निर्माता तीन प्रकार की दरें कैसे तय कर सकता है। सोनिया गांधी ने अपील की है कि केंद्र सरकार को अपनी नीति तुरंत वापस लेनी चाहिए ताकि 18 वर्ष से अधिक आयु के लोगों को बड़ी संख्या में टीके लग सकें।

आपको बता दें कि केंद्र सरकार ने टीकाकरण के एक नए चरण की घोषणा की है, जिसके तहत राज्य सरकार, निजी अस्पताल वैक्सीन निर्माताओं से सीधे वैक्सीन ले सकेंगे। सीरम संस्थान द्वारा पिछले दिन जारी की गई रेट लिस्ट के अनुसार, वैक्सीन राज्य सरकार को प्रति खुराक 400 रुपये और निजी अस्पताल को 600 रुपये प्रति खुराक और केंद्र सरकार को 150 रुपये प्रति डोज की दर से दी जाएगी। ।

सोनिया गांधी के अलावा कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने भी गुरुवार को ट्वीट कर केंद्र सरकार पर निशाना साधा। राहुल गांधी ने अपने एक ट्वीट में लिखा कि वह घर पर एक संगरोध हैं, लेकिन दुखद खबर लगातार आ रही है। भारत में संकट सिर्फ कोरोना नहीं है, बल्कि केंद्र सरकार की जन-विरोधी नीतियों का है। देश को एक समाधान दें, न कि झूठे उत्सव और खोखले भाषण।

अन्य नेताओं ने भी सवाल उठाए

कांग्रेस के अलावा, अन्य राजनीतिक दलों ने भी वैक्सीन की अलग-अलग कीमत पर सवाल उठाए हैं। सुपरस्टार और नेता कमल हासन ने कहा है कि संकट के ऐसे समय में केंद्र सरकार ने वैक्सीन की कीमत बढ़ाई है, यह शर्मनाक है और यह लोगों पर बोझ बढ़ाने जैसा है। बंगाल में तृणमूल कांग्रेस के रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने पीएम मोदी को ट्वीट कर कहा है कि आज हजारों लोग कह रहे हैं कि हम सांस नहीं ले पा रहे हैं, धैर्य बनाए रखने के लिए ऑक्सीजन की जरूरत है।

Latest Posts

Don't Miss